बरेली (उप्र): उप्र में बरेली पुलिस ने नए धर्म-परिवर्तन विरोधी कानून के तहत पहला मामला दर्ज करने के तीन दिन बाद पहली गिरफ्तारी की है। 'जबरन' धर्म परिवर्तन के खिलाफ अध्यादेश लाने के कुछ घंटों बाद ओवैश अहमद (22) पर रविवार को मामला दर्ज किया गया था।

अहमद पर उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश-2020 के तहत बरेली जिले के देवरनिया क्षेत्र में एक 20 वर्षीय विवाहित महिला को 'अपहरण की धमकी' और धर्म बदलने के लिए दबाव डालने को लेकर मामला दर्ज किया गया है।

आरोपी काफी समय से छिपा हुआ था। उसने कहा कि 'उसे डर था कि मुठभेड़ में उसे गोली मार दी जाएगी।'

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) संसार सिंह ने कहा, "उसके मन में यह धारणा हो सकती है, लेकिन पुलिस का इरादा कभी भी ऐसा करने का नहीं था, क्योंकि वह हिस्ट्रीशीटर नहीं है।"

उन्होंने आगे कहा, "हम सिर्फ उसकी तलाश कर रहे थे और इसके लिए कई टीमों को पड़ोसी जिलों में भी तैनात किया गया था। उसे बुधवार को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया, जिन्होंने उसे 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया। हम अब शिकायतकर्ता और गवाहों के बयान दर्ज करेंगे और इस मामले में जांच पूरी करेंगे।"

अहमद और महिला स्कूल के दोस्त थे। पिछले साल जब लड़की लापता हो गई थी, तो उसके परिवार ने तब भी अहमद के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। बाद में यह पता चला कि वह उसके कहने पर घर से भाग गई थी। बाद में उन्होंने कहा कि वे एक साथ रहना चाहते हैं।

युवती को तब भोपाल से बरामद किया गया। वे मुंबई जाने की फिराक में थे।

शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि कुछ महीने बाद युवती की शादी दूसरे व्यक्ति से कर दी गई, लेकिन अहमद ने महिला का पीछा करना शुरू कर दिया।

महिला के पिता ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया था कि अहमद पिछले तीन सालों से उसे डरा रहा था और धमकी दे रहा था।

अहमद पर आईपीसी की धारा 504 और 506 के साथ अध्यादेश की धारा 3/5 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

अहमद ने संवाददाताओं से कहा, "मुझे लव जिहाद कानून के तहत गिरफ्तार किया गया है। महिला के साथ मेरा कोई संबंध नहीं है। उसकी एक साल पहले शादी हो गई है। मैं निर्दोष हूं।"

--आईएएनएस

तुरीन: स्टेफनी फ्रैपपार्ट यूईएफए चैम्पियंस लीग के पुरुष मैच में रैफरी की भूमिका निभाने वाली पहली महिला रेफरी बन गई हैं। स्टेफनी ने बुधवार रात को जुवेंतस और डायनामो कीव के बीच एलियांज स्टेडियम में खेले गए मैच में रेफरी की भूमिका निभाई थी। इस मैच में जुवेंतस ने 3-0 से जीत हासिल की।

यूईएफए ने एक ट्वीट करते हुए लिखा, "बुधवार रात, स्टेफनी फ्रैपपार्ट यूसीएल मैच में रेफरी की भूमिका निभाने वाले पहली महिला बन गई हैं। उन्होंने जुवेंतस और डायनामो कीव के मैच में रैफरी की भूमिका निभाई। बधाई स्टेफनी।"

फीफा महिला विश्व कप के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, "आप इसे देखकर काफी खुश होंगे। स्टेफनी पहली महिला बन गई हैं जिन्होंने पुरुष चैम्पियंस लीग के मैच में रेफरी का राल अदा किया।"

इससे पहले 2019 में वह पहली महिला बनी थीं जिसने यूरोप में पुरुष फुटबाल मैच में रेफरी की भूमिका निभाई थी। उन्होंने यूईएफए सुपर कप में लिवरपूल और चेल्सी के मैच में बतौर रेफरी के तौर पर शिरकत की थी।

--आईएएनएस

एकेयू-एसकेपी

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल गैस हादसे की 36वीं बरसी के मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया है कि इस हादसे में मारे गए लोगों की विधवाओं को मिलने वाली पेंशन फिर शुरु की जाएगी और एक स्मारक भी बनाया जाएगा ताकि लोग इस हादसे से सबक लें। राजधानी के बरकतउल्ला भवन में (सेन्ट्रल लायब्रेरी) में आयोजित प्रार्थना सभा में दो-तीन दिसंबर 1984 की दरम्यानी रात को यूनियन कार्बाइड संयंत्र से रिसी गैस में मारे गए हजारों लोगों को श्रृद्धांजलि दी गई। इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि गैस हादसे में मारे गए लोगों की विधवाओं को मिलने वाली एक हजार रुपये की पेंशन वर्ष 2019 से बंद है, इसे फिर शुरु किया जाएगा।

चौहान ने कहा कि भोपाल में इस हादसे की याद में स्मारक बनाया जाएगा ताकि लोगों को सबक मिले। नागासाकी और हिरोशिमा में हुए हादसे के बाद वहां स्मारक बनाया गया था, यह हमें सीख देता है कि अब और परमाणु हमला न हेा। भोपाल हादसा भी लोगों को सीख दे, इसके लिए यहां स्मारक बनाया जाएगा।

--आईएएनएस

एसएनपी-एसकेपी

महोबा (उप्र): उत्तर प्रदेश में महोबा के बुधौरा गांव में 4 साल का बच्चा बोरवेल में गिर गया था, उसे गुरुवार की सुबह मृत घोषित कर दिया गया। लड़का बुधवार को बोरवेल में गिर गया था। 20 घंटे के ऑपरेशन के बाद बच्चे को बोरवेल से बाहर लाया गया, लेकिन मौके पर मौजूद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 30 फुट गहरे खुले बोरवेल से लड़के को बचाने के लिए बड़े पैमाने पर बचाव अभियान शुरू किया गया था।

अग्निशमन विभाग, स्थानीय पुलिस और प्रशासन ने संयुक्त रूप से ऑपरेशन को अंजाम दिया, जिसमें एनडीआरएफ की टीमें भी शामिल थीं। रिपोटरें में कहा गया है कि बोरवेल के आसपास के क्षेत्र को खोदने के लिए कई गड्ढे किए गए थे और पाइप के जरिए बच्चे को लगातार ऑक्सीजन भेजी जा रही थी।

जिला मजिस्ट्रेट सत्येंद्र कुमार ने कहा, "बच्चा धनेन्द्र अपनी बड़ी बहन रेखा के साथ खेलते समय बोरवेल में गिर गया था।" घटना की जानकारी मिलते ही कुलपहाड़ थाना प्रभारी अनूप दुबे पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। बचाव अभियान को देखने के लिए घटनास्थल पर जमा भारी भीड़ को नियंत्रित करने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया।

स्वास्थ्य विभाग की टीम में ऑक्सीजन सिलेंडरों के साथ डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ के लोग शामिल थे, जो बच्चे को ऑक्सीजन की आपूर्ति करा रहे थे।

--आईएएनएस

एसडीजे-एसकेपी

तुरीन: स्टार फुटबाल खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो के करियर के 750वें गोल की मदद से इटली के क्लब जुवेंतस ने चैम्पियंस लीग में डायनामो कीव को 3-0 से हरा दिया। एलियांज स्टेडियम में बुधवार रात को खेले गए मैच में जुवेंतस के लिए पहला गोल पहले हाफ में फेडेरिको चिएसा ने किया। इसके बाद रोनाल्डो और मोराटा ने गोल दागे।

रोनाल्डो ने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट में लिखा, "750 गोल, 750 खुशी के पल, प्रशंसकों के चेहरे पर 750 मुस्कुराहटें। सभी खिलाड़ियों और प्रशिक्षकों का मुझे यहां तक पहुंचाने में मदद करने के लिए शुक्रिया। मेरे सभी विपक्षियों का शुक्रिया जिन्होंने मुझे कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित किया।"

उन्होंने लिखा, "अगली मंजिल 800।"

35 साल के रोनाल्डो ने स्पेनिश क्लब रियाल मेड्रिड के लिए 450, इंग्लैंड के फुटबाल क्लब मैनचेस्टर युनाइटेड के लिए 118, अपने देश पुर्तगाल के लिए 102, और 75 गोल जुवेंतस और पांच गोल स्पोटिर्ंग के लिए किए हैं।

--आईएएनएस

एकेयू-एसकेपी

नई दिल्ली: नई कृषि नीतियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का गुरुवार को आठवां दिन है और किसान नेताओं ने एक बार फिर अपनी मांगों को दोहराया है। वे केंद्र सरकार के साथ एक और दौर की बातचीत के लिए मिलेंगे। समन्वय समिति (संयुक्ता किसान मोर्चा) के दर्शनपाल सिंह समेत विभिन्न कृषि यूनियनों के नेता विज्ञान भवन के लिए सिंघु सीमा से रवाना हुए हैं, जहां वे केंद्रीय मंत्रियों - कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और रेल मंत्री पीयूष गोयल समेत केंद्र के अन्य प्रतिनिधियों से मिलेंगे।

दिल्ली-हरियाणा सीमा सिंघू पर सुबह की प्रार्थना के बाद विरोध शुरू हुआ। यहां बैरिकेडिंग के अलावा सुरक्षा का एक घेरा और बढ़ा दिया गया है। दर्शनपाल सिंह ने आईएएनएस से कहा, "हम अपने पहले के रुख पर कायम हैं कि तीनों 'काले कानून' वापस लिए जाएं और आज की बैठक में भी इस पर जोर दिया जाएगा। हमें लगता है कि सरकार अभी भी हमारी बात नहीं सुन रही है और ऐसे में उन पर अधिक दबाव डालने की जरूरत है। लिहाजा विरोध प्रदर्शन को बढ़ाने की जरूरत है।"

एक अन्य किसान नेता ने कहा कि वे आज की बैठक के बारे में काफी आशान्वित हैं और चाहते हैं कि निष्कर्ष पर पहुंचें। अन्यथा विरोध उसी गति से जारी रहेगा और बल्कि जरूरत पड़ी तो और उग्र होगा।

बता दें कि पंजाब और हरियाणा के अंदरूनी इलाकों से आए हजारों किसान दिल्ली की सीमाओं पर 26 नवंबर से विरोध प्रदर्शन पर बैठे हैं। वे हरियाणा की सिंघु, टिकरी सीमा और उत्तर प्रदेश की गाजीपुर और चिल्ला सीमाओं पर डेरा डाले हुए हैं।

--आईएएनएस

एसडीजे-एसकेपी

संयुक्त राष्ट्र: भारत ने संयुक्त राष्ट्र से आह्वान किया है कि वह हिंदुत्व से घृणा करने वालों और सिख-बौद्ध धर्म को निशाना बनाने वाले हिंसक कट्टरपंथियों के खिलाफ कड़ा रुख अपनाए।

भारत के संयुक्त राष्ट्र मिशन में प्रथम सचिव आशीष शर्मा ने बुधवार को कहा कि ये निकाय बौद्ध धर्म, हिंदू धर्म और सिख धर्म के खिलाफ घृणा और हिंसा को स्वीकार करने में विफल रहा है।

उन्होंने 'फ्रीडम ऑफ रिलीजन या बिलीफ' पर प्रस्ताव का उल्लेख करते हुए कहा, "हम पूरी तरह से सहमत हैं कि यहूदी-विरोधी, इस्लामफोबिया और ईसाई-विरोधी कृत्यों की निंदा करने की जरूरत है और भारत इस तरह के कृत्यों की ²ढ़ता से निंदा करता है। लेकिन ऐसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव केवल इन तीन अब्राहमिक धर्मों - यहूदी धर्म, ईसाई धर्म और इस्लाम पर हैं। ऐसी चयनात्मकता क्यों? कट्टरपंथियों द्वारा प्रतिष्ठित बामियान में बुद्ध की प्रतिमा को तोड़ने, अफगानिस्तान में सिख गुरुद्वारे पर आतंकवादी बमबारी करने जिसमें 25 सिख उपासक मारे गए और हिंदू-बौद्ध मंदिरों के विनाश जैसे कृत्यों की भी इसी तरह निंदा होनी चाहिए। संयुक्त राष्ट्र एक ऐसा निकाय नहीं है जिसे किसी धर्म का पक्ष लेना चाहिए।"

बता दें कि केवल तीन अब्राहमिक धर्मों के नाम का ड्राफ्ट 33 यूरोपीय देशों ने प्रायोजित किया था जो मुख्य रूप से ईसाई हैं और कोई भी इस्लामिक देश या इजरायल इसे प्रायोजित करने में शामिल नहीं हुआ। इस ड्राफ्ट को पिछले महीने तीसरी समिति ने मंजूरी दी थी जो सामाजिक, मानवीय और सांस्कृतिक मुद्दों से संबंधित है।

इसमें कहा गया है कि महासभा "भेदभाव, असहिष्णुता और हिंसा के मामलों में वृद्धि को लेकर गहरी चिंता में है। लेकिन इसमें केवल इस्लामोफोबिया, यहूदी-विरोधी और ईसाई धर्म से प्रेरित मामलों को निर्दिष्ट किया गया है। अन्य धर्मों या मान्यताओं के लिए केवल पूर्वाग्रह न रखने का एक वाक्य लिखा गया है। जैसे अन्य धर्मों के साथ कोई असहिष्णुता का बर्ताव नहीं होता।"

शर्मा ने कहा, "कुल मिलाकर हिंदू धर्म के 1.2 अरब से अधिक, बौद्ध धर्म के 53.5 करोड़ और सिख धर्म के लगभग 3 करोड़ अनुयायी हैं। यह समय है कि इन धर्मों के खिलाफ हमलों को भी तीन अब्राहमिक धर्मों की सूची में जोड़ा जाए।"

उन्होंने आगे कहा, "शांति की संस्कृति केवल अब्राहमिक धर्मों के लिए नहीं हो सकती और जब तक इसमें चयनात्मकता रहेगी दुनिया कभी भी शांति की संस्कृति को बढ़ावा नहीं दे सकेगी। भारत केवल हिंदू धर्म, बौद्ध धर्म, जैन धर्म और सिख धर्म की जन्मभूमि नहीं है, बल्कि वह भूमि भी है जहां इस्लाम, यहूदी, ईसाई और पारसी धर्म की शिक्षाओं ने भी मजबूत जड़ें जमाईं हैं और जहां इस्लाम की सूफी परंपरा पनपी है। आज दुनिया के हर प्रमुख धर्मों के लिए भारत में जगह है।"

--आईएएनएस

एसडीजे-एसकेपी

भोपाल: मध्य प्रदेश में पर्यटन को रोजगार से जोड़ने के मकसद से पर्यटन विकास निगम ने तीन योजनाओं की शुरुआत की है। अब पर्यटक होम, ग्राम और फार्म में रुक सकेंगे। आधिकारिक तौर पर दी गई जानकारी मे बताया गया है कि कोरोना के कारण बदले वातावरण में पर्यटकों की होम स्टे के प्रति बढ़ती रुचि को देखते हुए पर्यटन विभाग द्वारा तीन नवीन योजनाओं को लागू किया गया है। बेड एंड ब्रेकफास्ट योजना, फार्म स्टे योजना और ग्राम स्टे योजना को लागू कर स्थानीय स्तर पर रोजगार के नये अवसर भी सृजित किये जाएंगे।

इन योजनाओं के प्रचार प्रसार के लिए जिला पुरातत्व एवं पर्यटन परिषद, राज्य पर्यटन विकास निगम के सहयोग से मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड द्वारा कार्यशालाएं आयोजित की गई। इनमें निजी क्षेत्र के हितधारक, टूर-ट्रेवल्स एसोसिएशन, होटल एसोसिएशन के प्रतिनिधि, स्थानीय गाइड, ग्रामीण विकास, कृषि, राजस्व एवं उद्यानिकी विभाग के अधिकारी-कर्मचारी और स्थानीय स्वयंसेवी संस्थाओं ने भाग लिया।

कार्यशाला में प्रतिभागियों को होम स्टे की परिभाषा एवं मूलभूत जानकारी, होम स्टे का संचालन, पर्यटन विभाग की होम स्टे संबंधित योजनाओं और उनके पंजीकरण के लिये आवश्यक मापदण्ड, प्रक्रिया, संचालकों के लिये तकनीकी प्रशिक्षण, योजनाओं से लाभ, प्रावधानों आदि की जानकारी दी जा रही है।

--आईएएनएस

एसएनपी-एसकेपी

श्रीनगर: जम्मू और कश्मीर के शोपियां जिले में गुरुवार को सेना के एक जवान ने अपनी सर्विस राइफल से खुद को गोली मार ली। जवान की मौत हो गई है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि 62 मुख्यालय के सिपाही चंद्र पाटिल ने शोपियां जिले के जवोरा गांव में अपनी सर्विस राइफल से खुद को गोली मार ली।

पुलिस ने कहा कि इस घटना की प्राथमिकी दर्ज की गई है।

पुलिस ने कहा कि इस बात की जांच की जाएगी कि जवान ने ये कदम क्यों उठाया।

--आईएएनएस

एसकेपी

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने हर भारतीय के टीकाकरण के मुद्दे पर भाजपा और केंद्र सरकार के अलग-अलग रुख की आलोचना की है। उन्होंने पूछा है कि इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का क्या स्टैंड है। गुरुवार को एक ट्वीट में राहुल गांधी ने कहा, पीएम कहते हैं सभी को वैक्सीन मिलेगा। बिहार चुनाव में बीजेपी कहती है सभी को फ्री वैक्सीन मिलेगा। अब, सरकार कहती है कि कभी नहीं कहा कि सभी को वैक्सीन मिलेगा। वास्तव में प्रधानमंत्री का इस मुद्दे पर क्या स्टैंड हैं?

बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा ने वादा किया था कि सत्ता में आने पर सभी को मुफ्त वैक्सीन दिया जाएगा।

कांग्रेस नेता की टिप्पणी केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण के ये कहने के एक दिन बाद आई कि सरकार ने कभी नहीं कहा कि सभी को कोविड-19 का टीका लगाया जाएगा।

बुधवार को एक प्रेस कांफेंस में भूषण ने कहा, मैं बस यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि सरकार ने पूरे देश में टीकाकरण के बारे में कभी नहीं कहा है। यह महत्वपूर्ण है कि हम ऐसे वैज्ञानिक मुद्दों पर चर्चा करें, केवल तथ्यात्मक जानकारी के आधार पर और फिर इसका विश्लेषण करें।

--आईएएनएस

एसकेपी

Page 6 of 16773

Don't Miss