नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को देश में COVID-19 महामारी की स्थिति पर चर्चा करने के लिए विभिन्न राजनीतिक संगठनों और शीर्ष केंद्रीय मंत्रियों के नेताओं के साथ एक सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता की। इस बैठक के बाद अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि भारत में अगले कुछ हफ्तों में कोरोना की वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर आएगी। पीएम मोदी ने कहा कि अभी आठ ऐसी वैक्सीन हैं, जो ट्रायल के चरण में हैं। पीएम मोदी ने कहा कि ऐसी उम्मीद है कि अगले कुछ हफ्तों में कोरोना की वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर आएगी। पीएम मोदी ने कहा कि वैज्ञानिकों की ओर से मंजूरी मिलते ही इस पर काम शुरू हो जाएगा।

कोरोना वैक्सीन की कीमत क्या होगी इसको लेकर भी पीएम मोदी ने तस्वीर साफ की। पीएम मोदी ने कहा कि वैक्सीन की कीमत क्या होगी, इस पर केंद्र और राज्. सरकारें मिलकर फैसला करेंगी। उन्होंने कहा कि वैक्सीन की कीमत पर फैसला लोगों को ध्यान में रखते हुए लिया जाएगा। राज्य की इसमें सहभागित होगी।

पीएम मोदी ने बताया कि केंद्र सरकार बड़े पैमाने पर वैक्सीन वितरण को लेकर काम कर रही है, जो राज्य सरकार की मदद से जमीन पर उतारा जाएगा। पीएम मोदी ने कहा कि सरकार ने एक नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप बनाया है, जिसकी सिफारिश के आधार पर ही काम होगा। पीएम मोदी ने साथ ही कहा कि भारत एक विशेष तरह के सॉफ्टवेयर पर काम कर रहा है जो हर किसी को वैक्सीन पहुंचाने पर ट्रैकिंग करेगा। इससे वैक्सीन को लोगों तक पहुंचाने में मदद मिलेगी।

पीएम मोदी ने इस बैठक में वैक्सीन को लेकर कई बड़ी बातें कही। उन्होने कहा कि वैक्सीन को लेकर अगले कुछ हफ्तों में गुड न्यूज आएगी। पीएम मोदी ने संकेत दिए कि वैक्सीन सबसे पहले बुजुर्गों और कोरोना वॉरियर्स को मिल सकती है।

इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि फरवरी-मार्च की आशंकाओं भरे, डर भरे माहौल से लेकर आज दिसंबर के विश्वास और उम्मीदों भरे वातावरण के बीच भारत ने बहुत लंबी यात्रा तय की है। उन्होंने आगे कहा कि अब जब हम वैक्सीन के मुहाने पर खड़े हैं तो वही जनभागीदारी, वही साइंटिफिक अप्रोच, वही सहयोग आगे भी बहुत जरूरी है।

पीएम मोदी ने कहा कि सरकार हर किसी का सुझाव ले रही है और उसके अनुसार ही आगे बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि वैक्सीन को लेकर किसी तरह की अफवाह ना फैले और राष्ट्रहित सबसे अधिक हो, ऐसे में राजनीतिक दलों को जागरुक होना होगा।

इस बैठक में विभिन्न दलों के नेता शामिल हुए। लोकसभा और राज्यसभा के सभी दलों के फ्लोर नेताओं को आभासी बैठक में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया था। यह बैठक लगभग सुबह 10:30 बजे शुरू हुई। सूत्रों ने कहा कि प्रमुख राजनीतिक दलों के लगभग 12 नेताओं की बैठक में पांच या पांच से अधिक सांसद मौजूद रहे। इस सर्वदलीय बैठक की घोषणा पहले ही की गई थी। कोरोना को लेकर केंद्र सरकार द्वारा बुलाई जाने वाली यह दूसरी सर्वदलीय बैठक रही।

बेंगलुरु में पूर्व पीएम और जनता दल (सेकुलर) के प्रमुख एचडी देवगौड़ा ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए देश में कोरोना की स्थिति पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में हिस्सा लिया। इस बैठक में केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन मौजूद रहे। उनके अलावा, संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी और उसी मंत्रालय में राज्य के मंत्री अर्जुन राम मेघवाल और वी मुरलीधरन, जो बैठक के लिए नेताओं के साथ पहुंचे थे, वे भी इस बैठक का हिस्सा रहे।

प्रधानमंत्री मोदी की कोरोना वैक्सीन को लेकर बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस से अधीर रंजन चौधरी और गुलाम नबी आजाद, टीएमसी के सुदीप बंद्योपाध्याय और डेरेक ओ' ब्रायन, बीजू जनता दल से चंद्रशेखर साहू, YSRCP से विजयसाई रेड्डी और मिथुन रेड्डी, AIMIMसे इम्तियाज जलील, शिवसेना से विनायक राउत, जेडीयू से आरसीपी सिंह, AIADMK से नवनीत कृष्णन, DMK से TRK बालू और तिरुचि शिवा , जेडीएस से एचडी देवगौड़ा, एनसीपी से शरद पवार, समाजवादी पार्टी से राम गोपाल यादव, बसपा से सतीश मिश्रा, राष्ट्रीय जनता जल से प्रेम चंद्र गुप्ता, टीडीपी से जय गल्ला, AAP से संजय सिंह आए हैं।

नई दिल्‍ली: नॉवेल कोरोना वायरस संक्रमण से जूझ रहे भारत समेत दुनिया के तमाम देश इससे बचाव के लिए वैक्‍सीन की डील कर रहे हैं। कई देशों में तो वैक्‍सीन की खेप पहुंच भी चुकी है और इस माह के अंत तक लोगों को मिलनी भी शुरू हो जाएगी। इस क्रम में भारत ने भी 160 करोड़ डोज का ऑर्डर दिया है। इसके साथ ही वैक्‍सीन के लिए सबसे अधिक ऑर्डर देने वाला भारत दुनिया का पहला देश बन गया है।

पुणे स्‍थित सीरम इंस्‍टीट्यूट में वैक्‍सीन की टेस्‍टिंग कराने वाले ऑक्सफोर्ड एस्‍ट्राजेनेका के साथ भारत ने डील की है और सबसे अधिक वैक्‍सीन के डोज यहीं से मिलने वाले हैं। डील के तहत एस्‍ट्राजेनेका वैक्‍सीन की 50 करोड़ डोज भारत को मिलने वाली है। बता दें कि अमेरिका की ओर से भी एस्‍ट्राजेनेका के साथ इतने ही डोज की बुकिंग की गई है। भारत और अमेरिका के अलावा कई अन्‍य यूरोपीय देशों की ओर से भी ऑक्‍सफोर्ड एस्‍ट्राजेनेका की वैक्‍सीन के लिए करीब 40 करोड़ ऑर्डर आए हैं।

नोवावैक्‍स ने भी कोविड-19 वैक्‍सीन विकसित की है। इसके साथ हुई डील के तहत भारत ने एक बिलियन डोज का ऑर्डर दिया है।

भारत ने रूसी कोरोना वैक्‍सीन स्‍पूतनिक V के 10 करोड़ डोज के लिए डील की है। बता दें कि इस वैक्‍सीन का अंतिम ट्रायल भारत में जारी है। हैदराबाद की डॉ रेड्डी के साथ ट्रायल के लिए स्‍पूतिनक V ने समझौता किया है। 11 अगस्‍त को रूस ने इस वैक्‍सीन को विकसित करने का दावा किया था, लेकिन अब तक भारत के अलावा किसी भी देश ने इसके लिए ऑर्डर नहीं दिए हैं। रूस की गामालेया इंस्‍टीट्यूट ने स्‍पूतनिक V वैक्‍सीन को विकसित किया है।

इसके अलावा वैक्‍सीन विकसित करने वाली कंपनियां सनोफी-जीएसके, फाइजर-बायोएनटेक और मॉडर्ना को भारत ने अब तक कोई ऑर्डर नहीं दिया है। वैक्‍सीन की सप्‍लाई से पहले कंपनियों की वैक्‍सीन को वैश्‍विक स्‍तर पर मंजूरी लेनी होगी। इसके बाद ही इसकी सप्‍लाई की जाएगी।

हैदराबाद: हाईप्रोफाइल हैदराबाद नगर निगम चुनावों को लेकर मतगणना जारी है। ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (GHMC) चुनाव के शुरुआती रुझानों में भारतीय जनता पार्टी ऐतिहासिक जीत की ओर बढ़ती नजर आ रही है। हालांकि, शुरुआत में किसी ने यह कल्‍पना नहीं की थी कि भाजपा यहां इतना अच्‍छा परफॉर्म कर पाएगी। यहां तक कि एग्जिट पोल में भी टीआरएस को ही बढ़त दिखाई गई थी। लेकिन भाजपा को कहीं न कहीं कोई उम्‍मीद नजर आ रही थी, इसलिए पार्टी ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी। भारतीय जनता पार्टी की ओर से अमित शाह समेत कई बड़े नेताओं को प्रचार में उतरा था। भाजपा की यह बढ़त यह भी दर्शाती है कि अगर ग्राउंड लेवल पर काम किया जाए, तो उसका परिणाम हमेशा सकारात्‍मक ही आता है। 

शुरुआत रुझानों में बताया जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी 50 सीटों पर आगे चल रही है जबकि, सत्तारूढ़ टीआरएस 27 सीटों पर आगे है। इसके अलावा एआइएमआइएम के पाले में एक सीट आ चुकी है और 11 पर बढ़त बनाए हुए है। इसके अलावा कांग्रेस सिर्फ एक ही सीट पर आगे चल रही है। नगर निगम चुनावों को लेकर सबकी निगाहें इस वक्त नतीजों पर टिकी हैं। भले ही यह चुनाव नगर निगम का हो लेकिन जितने जोश के साथ भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव प्रचार किया है, उसके बाद मुकाबला काफी दिलचस्प हो गया है। भाजपा ने चुनाव प्रचार के लिए हाईप्रोफाइल नेताओं को मैदान में उतारा। गृह मंत्री अमित शाह, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा के अलावा केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, प्रकाश जावड़ेकर, तेजस्वी सूर्या और देवेंद्र फडणवीस जैसे हाईप्रोफाइल नेताओं ने भी चुनाव प्रचार किया। पार्टी ने इन चुनावों के लिेए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है।

गिनती के साथ पहले भाजपा धीरे-धीरे आगे बढ़े रही थी लेकिन अब बीजेपी की बढ़त धीमी होती दिख रही है। फिलहाल भाजपा 64 सीटों पर आगे चल रही है वहीं इससे पहले वह 88 सीटों पर आगे चल रही थी। टीआरएस 47 सीटों पर लीड कर रही है जबकि एआइएमआइएम 27 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है।

भारतीय जनता पार्टी ने इस बार निगम चुनावों में पूरे जोर-शोर के साथ प्रचार किया है और उसका असर रूझानों में भी साफ नजर आ रहा है। पार्टी लगातार आगे चल रही है, फिलहाल बीजेपी 88 सीटों पर बढ़त बनाई हुई है जबकि टीआरएस 33 और एआइएमआइएम 17 सीटों पर आगे चल रही हैं।

रूझानों में भाजपा लगातार जीत की तरफ आगे बढ़ रही है। पार्टी ने 77 सीटों पर बढ़त बनाई हुई है और टीआरएस अब 34 सीटों पर आगे चल रही है। इसके अलावा एआइएमआइएम 17 और कांग्रेस सिर्फ एक सीट पर लीड कर रही है।

शुरूआती रुझानों में भारतीय जनता पार्टी 50 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। वहीं, AIMIM ने एक सीट जीत ली है और 11 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है, जबकि टीआरएस 27 सीटों पर आगे चल रही है। इसके अलावा कांग्रेस पार्टी एक सीट पर आगे चल रही है।

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) चुनाव के लिए मतगणना चल रही है। यह तस्वीर एलबी स्टेडियम के मतगणना केंद्र की है जहां वोटों की गिनती चल रही है।

हैदराबाद: हाईप्रोफाइल हैदराबाद नगर निगम चुनावों को लेकर मतगणना जारी है। ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (GHMC) चुनाव के शुरुआती रुझानों में भारतीय जनता पार्टी ऐतिहासिक जीत की ओर बढ़ती नजर आ रही है। हालांकि, शुरुआत में किसी ने यह कल्‍पना नहीं की थी कि भाजपा यहां इतना अच्‍छा परफॉर्म कर पाएगी। यहां तक कि एग्जिट पोल में भी टीआरएस को ही बढ़त दिखाई गई थी। लेकिन भाजपा को कहीं न कहीं कोई उम्‍मीद नजर आ रही थी, इसलिए पार्टी ने अपनी पूरी ताकत झौंक दी। भारतीय जनता पार्टी की ओर से अमित शाह समेत कई बड़े नेताओं के प्रचार उतरे। भाजपा की यह बढ़त यह भी दर्शाती है कि अगर ग्राउंड लेवल पर काम किया जाए, तो उसका परिणाम हमेशा सकारात्‍मक ही आता है। 

शुरुआत रुझानों में बताया जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी 50 सीटों पर आगे चल रही है जबकि, सत्तारूढ़ टीआरएस 27 सीटों पर आगे है। इसके अलावा एआइएमआइएम के पाले में एक सीट आ चुकी है और 11 पर बढ़त बनाए हुए है। इसके अलावा कांग्रेस सिर्फ एक ही सीट पर आगे चल रही है। नगर निगम चुनावों को लेकर सबकी निगाहें इस वक्त नतीजों पर टिकी हैं। भले ही यह चुनाव नगर निगम का हो लेकिन जितने जोश के साथ भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव प्रचार किया है, उसके बाद मुकाबला काफी दिलचस्प हो गया है। भाजपा ने चुनाव प्रचार के लिए हाईप्रोफाइल नेताओं को मैदान में उतारा। गृह मंत्री अमित शाह, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा के अलावा केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, प्रकाश जावड़ेकर, तेजस्वी सूर्या और देवेंद्र फडणवीस जैसे हाईप्रोफाइल नेताओं ने भी चुनाव प्रचार किया। पार्टी ने इन चुनावों के लिेए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है।

भारतीय जनता पार्टी ने इस बार निगम चुनावों में पूरे जोर-शोर के साथ प्रचार किया है और उसका असर रूझानों में भी साफ नजर आ रहा है। पार्टी लगातार आगे चल रही है, फिलहाल पार्टी ने 88 सीटों पर बढ़त बनाई हुई है जबकि टीआरएस 33 और एआइएमआइएम 17 सीटों पर आगे चल रही हैं।

रूझानों में भाजपा लगातार जीत की तरफ आगे बढ़ रही है। पार्टी ने 77 सीटों पर बढ़त बनाई हुई है और टीआरएस अब 34 सीटों पर आगे चल रही है। इसके अलावा एआइएमआइएम 17 और कांग्रेस सिर्फ एक सीट पर लीड कर रही है।

शुरूआती रुझानों में भारतीय जनता पार्टी 50 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। वहीं, AIMIM ने एक सीट जीत ली है और 11 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है, जबकि टीआरएस 27 सीटों पर आगे चल रही है। इसके अलावा कांग्रेस पार्टी एक सीट पर आगे चल रही है।

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) चुनाव के लिए मतगणना चल रही है। यह तस्वीर एलबी स्टेडियम के मतगणना केंद्र की है जहां वोटों की गिनती चल रही है।

वाशिंगटन: अमेरिका में एक ही दिन में रिपोर्ट किए गए कोरोनावायरस मामलों और अस्पताल में भर्ती होने वालों की संख्या ने नया विश्व रिकॉर्ड बनाया है। वहीं नए मामलों के साथ देश में संक्रमण का कुल आंकड़ा 1.4 करोड़ से अधिक हो गया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, देश में और 10 लाख नए मामले दर्ज होने में मात्र छह दिन लगे।

अपने नए अपडेट में यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने गुरुवार को कहा कि पिछले 24 घंटों में 196,227 नए मामले और 2,762 मौतें दर्ज की गई हैं।

इसके साथ संक्रमण के अब कुल आंकड़े और मृत्यु का आंकड़ा बढ़कर क्रमश: 14,124,678 और 276,148 हो गया है।

प्रतिदिन दर्ज किए जा रहे नए मामलों ने नया विश्व रिकॉर्ड बनाया है, जिससे 7 दिन की औसत दैनिक वृद्धि 163,000 से अधिक हो गई।

अमेरिका में बुधवार को लगातार 25वें दिन 100,000 से अधिक मामले दर्ज किए गए है।

वहीं अप्रैल के मुकाबले हर दिन हो रही मृत्यु में भी वृद्धि दर्ज की गई है।

द कोविद ट्रैकिंग प्रोजेक्ट के नवीनतम आंकड़ों से पता चला है कि पूरे अमेरिका में 100,226 संक्रमित मरीज अस्पताल में भर्ती हैं। पहली बार यह संख्या 100,000 से अधिक है।

ट्रैकिंग परियोजना के अनुसार, इस क्षेत्र में नवंबर के मध्य के बाद से हर हफ्ते सबसे अधिक रिपोर्टेड मामलों और मौतों की संख्या देखी गई है।

सीडीसी के अनुसार, अमेरिका में अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की समग्र साप्ताहिक दर महामारी के शीर्ष बिंदु पर है। इनमें 65 वर्ष और अधिक आयु के व्यक्तियों में अतिरिक्त वृद्धि देखी गई है।

कई राज्यों के अस्पतालों में मरीजों का अत्यधिक दबाव है।

स्वास्थ्य और मानव सेवा विभाग के अनुसार, देशभर में 1,000 से अधिक अस्पताल गंभीर स्टाफ की कमी का सामना कर रहे हैं।

सीडीसी के निदेशक रॉबर्ट रेडफील्ड ने बुधवार को चेतावनी दी, "वास्तविकता यह है कि दिसंबर, जनवरी और फरवरी खराब महीने होने जा रहे हैं, मुझे वास्तव में विश्वास है कि वे इस राष्ट्र के सार्वजनिक स्वास्थ्य इतिहास में सबसे कठिन समय होने जा रह है। इसका कारण हमारी स्वास्थ्य प्रणाली पर बढ़ने वाला दबाव है।"

उन्होंने अमेरिकियों से एहतियातों का पालन करना जारी रखने का आग्रह किया, जिनमें सामाजिक दूरी, मास्क पहनना, भीड़ को सीमित करना और पारिवारिक समारोहों के दौरान अपनी सुरक्षा को कम न होने देना है।

कुछ राज्यों ने बिगड़ते हालात के मद्देनजर नए प्रतिबंध लगाए हैं।

कैलिफोर्निया ने घर पर रहने को लेकर नए आदेश जारी किए हैं, जो कि 15 प्रतिशत से कम आईसीयू उपलब्धता वाले क्षेत्रों में 48 घंटों के भीतर लागू हो जाएंगे।

--आईएएनएस

एमएनएस-एसकेपी

नई दिल्ली: भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोनावायरस के 36,595 नए मामले सामने आए, जिसके बाद कुल मामलों की संख्या 95,71,559 हो गई। इसी दौरान इस वायरस से 540 मौतें हुई, जिसके बाद मौतों का आंकड़ा 1,39,188 तक पहुंच गया। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने शुक्रवार को ये जानकारी दी। गुरुवार के मुकाबले शुक्रवार को भारत में कुल मामलों की संख्या में 3 फीसदी और मौतों की संख्या में 2.7 फीसदी की वृद्धि देखी गई।

देश में फिलहाल कोरोनावायरस के 4,16,082 सक्रिय मरीज हैं, 90,16,289 मरीजों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी गई है। पिछले 24 घंटों में 42,916 मरीजों को देश के विभिन्न अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई।

भारत में रिकवरी रेट 94.2 फीसदी, जबकि मृत्यु दर 1.45 फीसदी है।

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के मुताबिक, देश में एक दिन में 11,70,102 नमूनों की जांच की गई, जिसके बाद कुल नमूनों की जांच की संख्या 14,47,27,749 हो गई।

महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य बना हुआ है। यहां अब तक कोरोनावायरस के 18,37,358 मामले सामने आ चुके हैं और 47,472 मौतें हो चुकी हैं। राज्य में फिलहाल 85,535 सक्रिय मरीज हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के आंकड़ों के अनुसार, देश में 70 फीसदी मामले महाराष्ट्र, दिल्ली, केरल, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और छत्तीसगढ़ से दर्ज हुए हैं।

--आईएनएस

एसकेपी

हैदराबाद: हाईप्रोफाइल हैदराबाद नगर निगम चुनावों को लेकर मतगणना जारी है। ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (GHMC) चुनाव के शुरुआती रुझानों में भारतीय जनता पार्टी ऐतिहासिक जीत की ओर बढ़ती नजर आ रही है। हालांकि, शुरुआत में किसी ने यह कल्‍पना नहीं की थी कि भाजपा यहां इतना अच्‍छा परफॉर्म कर पाएगी। यहां तक कि एग्जिट पोल में भी टीआरएस को ही बढ़त दिखाई गई थी। लेकिन भाजपा को कहीं न कहीं कोई उम्‍मीद नजर आ रही थी, इसलिए पार्टी ने अपनी पूरी ताकत झौंक दी। भारतीय जनता पार्टी की ओर से अमित शाह समेत कई बड़े नेताओं के प्रचार उतरे। भाजपा की यह बढ़त यह भी दर्शाती है कि अगर ग्राउंड लेवल पर काम किया जाए, तो उसका परिणाम हमेशा सकारात्‍मक ही आता है। 

शुरुआत रुझानों में बताया जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी 50 सीटों पर आगे चल रही है जबकि, सत्तारूढ़ टीआरएस 27 सीटों पर आगे है। इसके अलावा एआइएमआइएम के पाले में एक सीट आ चुकी है और 11 पर बढ़त बनाए हुए है। इसके अलावा कांग्रेस सिर्फ एक ही सीट पर आगे चल रही है। नगर निगम चुनावों को लेकर सबकी निगाहें इस वक्त नतीजों पर टिकी हैं। भले ही यह चुनाव नगर निगम का हो लेकिन जितने जोश के साथ भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव प्रचार किया है, उसके बाद मुकाबला काफी दिलचस्प हो गया है। भाजपा ने चुनाव प्रचार के लिए हाईप्रोफाइल नेताओं को मैदान में उतारा। गृह मंत्री अमित शाह, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा के अलावा केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, प्रकाश जावड़ेकर, तेजस्वी सूर्या और देवेंद्र फडणवीस जैसे हाईप्रोफाइल नेताओं ने भी चुनाव प्रचार किया। पार्टी ने इन चुनावों के लिेए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है।

इस बार ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव में मतपत्रों का उपयोग किया गया था। वहीं कोरोना महामारी के चलते इस बार सिर्फ 35 फीसद ही मतदान हुआ। इन चुनावों में कुल 74 लाख से अधिक मतदाता हैं, जिनमें 38,89,637 पुरुष वोटर और 35,76,941 महिला वोटर शामिल हैं। गौरतलब है कि इस बार चुनाव में, सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस), भारतीय जनता पार्टी और असदुद्दीन ओवैसी की एआइएमआइएम पार्टी चुनावी मैदान में हैं।

मुंबई: भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने शुक्रवार को प्रमुख ब्याज दर यानी रेपो रेट चार फीसदी पर बरकरार रखने की घोषणा की। आरबीआई ने लगातार तीसरी बार रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है। रिवर्स रेपो रेट में भी कोई बदलाव नहीं हुआ है। केंद्रीय छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक में लिए गए फैसले के बाद आरबीाई गनर्वर शक्तिकांत दास ने रेपो रेट चार फीसदी पर बरकरार रखने की घोषणा की। रेपो रेट वह ब्याज दर है जिस पर केंद्रीय बैंक वाणिज्यिक बैंकों को अल्पकालीन ऋण मुहैया करवाता है। वहीं, रिवर्स रेट पर वह ब्याज दर है जिस पर केंद्रीय बैंक वाणिज्यिक बैंकों से जमा प्राप्त करता है। आरबीआई का रेपो रेट इस समय 4 फीसदी है जबकि रिवर्स रेपो रेट 3.35 फीसदी है। आरबीआई ने चालू वित्त वर्ष में आगे भी समायोजी रुख बनाए रखने का संकेत दिया है।

--आईएएनएस

पीएमजे-एसकेपी

न्यूयॉर्क: टाइम मैगजिन ने एक भारतीय अमेरिकी किशोर लड़की गीतांजलि राव को अपने कवर पेज पर 'किड ऑफ द ईयर' के रूप में छापा है। उसे 5,000 से अधिक नामांकित लोगों में से चुना गया है। राव ने टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर ओपियम की लत से और साइबरबुलिंग से लोगों को निकालने में आश्चर्यजनक सफलता हासिल की है। एक सफेद लैब कोट में, हाथ में पदक पकड़े हुए, गीतांजलि राव को 14 दिसंबर की टाइम मैगजिन के कवर पर दिखाया गया है। तस्वीर में वो एक सफेद बेंच पर बैठी हुई है और उसके कंधे तक की लंबाई के बाल हवा में उड़ रहे हैं।

राव से इंटरव्यू लेने वाली एंजेलिना जोली लिखती हैं, वीडियो चैट पर भी, उनका तेज दिमाग और अन्य युवाओं के लिए प्रेरक संदेश साफ झलकता है। उसका कहना है कि हर समस्या को ठीक करने की कोशिश मत करो, उसी पर फोकस करो जिससे आप उत्तेजित हों।

राव का नवीनतम नवाचार एक ऐप किंडली और एक क्रोम एक्सटेंशन है - जो साइबरबुलिंग का पता लगाने के लिए मशीन लनिर्ंग तकनीक का इस्तेमाल करता है।

जूम कॉल पर गीतांजलि राव ने जोली को समझाया, मैंने कुछ शब्दों में हार्ड-कोड करना शुरू किया, जिसे बुलिंग माना जा सकता है, और फिर मेरे इंजन ने उन शब्दों को पहचान लिया जो एक समान हैं। आप एक शब्द या वाक्य टाइप करते हैं, और अगर यह बुलिंग है, तो इसे पिक कर लेता है। यह आपको इसे एडिट करने या इसे भेजने का विकल्प देता है।

राव ने कहा, ये किसी को सजा देने के लिए नहीं है। एक किशोरी के रूप में, मुझे पता है इस उम्र के लोग कभी-कभी गुस्सा हो जाते हैं। इसके बजाय, यह आपको यह बताने का मौका देता है कि आप क्या कह रहे हैं ताकि आप जान सकें कि अगली बार आपको क्या करना है।

--आईएएनएस

एसकेपी

रतलाम/भोपाल: मध्य प्रदेश के रतलाम जिले में एक परिवार के तीन सदस्यों की हत्या करने के आरोपी गुजरात निवासी दिलीप देवल को पुलिस ने बीती रात मुठभेड़ में मार गिराया है। इस मुठभेड़ में पुलिस जवान भी घायल हुए है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि ऐसे नरपिशाचांे को समाज में रहने का कोई अधिकार नहीं है। मिली जानकारी के अनुसार, गुरुवार की रात को पुलिस को पिछले दिनों हुए तिहरे हत्याकांड के आरोपी दिलीप के खाचरौद मार्ग के पास होने की सूचना मिली थी। इस सूचना के आधार पर पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी के निर्देश पर पुलिस बल मौके पर पहुंचा। आरोपी की घेराबंदी की गई, दिलीप ने पुलिस पर फायरिंग की, जवाब में पुलिस ने भी गोली चलाई। इस गोलीबारी में दिलीप मारा गया, वहीं पुलिस के जवान भी घायल हुए हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, अभी थोड़ी देर पहले रतलाम ट्रिपल मर्डर केस का मुख्य आरोपी दिलीप देवल पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया। मैंने पुलिस को सख्त निर्देश दिए थे कि ऐसे नरपिशाच को समाज में रहने का कोई अधिकार नहीं है। उसे जल्द से जल्द पकड़ा जाए।

चौहान ने आगे बताया कि, जब पुलिस टीम उसे पकड़ने गयी तो उसने टीम पर गोलियां चलाई और हमारे बहादुर जवानों ने उसका मुंहतोड़ जवाब दिया। हमारे कुछ पुलिसकर्मी इस मुठभेड़ में घायल भी हुए है। मैं उनके शीघ्रातिशीघ्र ठीक होने की कामना करता हूं।

पुलिस बल का उत्साहवर्धन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरी पुलिस टीम को मध्यप्रदेश की तरफ से धन्यवाद। मध्यप्रदेश आज फिर से शांति से सोएगा क्योंकि आप हमारे रक्षक हो। जय हिंद!

--आईएएनएस

एसएनपी-एसकेपी

Page 3 of 16773

Don't Miss