हेमिल्टन: न्यूजीलैंड ने कप्तान केन विलियमसन (251) के शानदार दोहरे शतक की बदौलत यहां के सेडन पार्क मैदान पर वेस्टइंडीज के साथ जारी पहले टेस्ट मैच में अपनी पहली पारी सात विकेट पर 519 रनों पर घोषित कर दी। केन ने 412 गेंदों का सामना कर 34 चौके और 2 छक्के लगाए। केल जेमीसन 51 रनों पर नाबाद लौटे। केन पहले दिन स्टम्प्स तक 97 रनों पर नाबाद लौटे थे।

उनके साथ रॉस टेलर 31 रनों पर नाबाद थे। दूसरे दिन 38 के निजी योग पर आउट हो गए जबकि केन की पारी जारी रही। केन ने 224 गेंदों पर अपना शतक पूरा किया और फिर 369 गेंदों पर दोहरा शतक पूरा किया।

केन का यह टेस्ट मैचो में सर्वोच्च निजी योग है। उन्होंने अपने करियर में 22 शतक पूरे कर लिए हैं।

कीवी टीम ने 145 ओवर खेलते हुए सात विकेट पर 519 रन बनाए और अपनी पहली पारी घोषित कर दी। जेमीसन 64 गेंदों पर पांच चौके और दो छक्के लगाकर नाबाद लौटे।

जवाब में खेलते हुए विंडीज टीम ने दिन का खेल खत्म होने तक अपनी पहली पारी में 26 ओवरों का सामना करते हुए बिना कोई विकेट गंवाए 49 रन बना लिए हैं।

क्रेग ब्राथवेट 20 और जॉन कैम्पबेल 22 रनों पर नाबाद लौटे। कैरेबियाई टीम पहली पारी की तुलना में अभी भी 470 रन पीछे है।

--आईएएनएस

जेएनएस

गोरखपुर: भारत के चीफ आफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने कहा कि हमारा देश नए भारत के रूप में उभर कर सामने आना वाला है। देश कैसे उन्नति करेगा, ये आप पर निर्भर है। उन्होंने कहा कि आप सभी के हाथों में ही देश का भविष्य है, इसे सदैव ध्यान में रखे। बिपिन रावत शुक्रवार को गोरखपुर में महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद के संस्थापक सप्ताह समारोह के शुभारंभ के अवसर पर वहां के बच्चों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आर्थिक गतिविधियां, शिक्षा प्रणाली, सामाजिक उन्नति, शहरीकरण एवं तकनीक के बढ़ते इस्तेमाल से उज्‍जवल भविष्य की ओर देश बढ़ रहा है। इसके लिए यह भी जरूरी है कि इमानदारी एवं वफादारी के साथ कर्तव्य पालन करेंगे। आप सभी के हाथों में ही देश का भविष्य है, इसे सदैव ध्यान में रखे। आप अपनी सोच को सदैव ऊंचा रखें। आप तारों तक पहुंचने की सोच रखेंगे, तभी चांद पर पहुंचेंगे।

उन्होंने कहा कि देश किस तरह से उन्नति करेगा, यह देश के विद्यार्थी की कार्यशैली पर निर्भर है। स्वामी विवेकानंद ने कहा था अगर आपकी रोज की दिनचर्या में आपको किसी भी मुश्किल हालात का सामना नहीं करना पड़ा, कोई मुसीबत नहीं पड़ रही है तो आप गलत रास्ते पर चल रहे हैं। क्योंकि आप जब आगे बढ़ने की कोशिश करेंगे, तो आपके आगे मुश्किल हालात आएंगे और आपको इन सब से आगे बढ़ना होगा। इसीलिए जरूरी है कि आप अपनी ताकत की पहचान करें। हम सभी में गुण होते हैं, अपने अवगुणों को पीछे छोड़ते हुए आगे बढ़ने की कोशिश करनी है।

महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद के संस्थापक सप्ताह समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में आए चीफ आफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने कहा कि जब जब आप ऐसा करेंगे इसमें आपको मुश्किल पेश आएगी। कई बार सफलता भी मिलेगी लेकिन असफलता से कभी हताश नहीं होना चाहिए। असफलता एक चुनौती है, इसे स्वीकार करो, कहां खामियां रह गई इस पर विचार करो। तुम मेहनत और लगन के साथ आगे बढ़े चलो, और हर नए शिखर पर परचम लहराओ। हमारे पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम ने कहा था अगर आप सूरज जैसी चमक चाहते हैं तो उससे पहले सूरज के जैसे जलना भी होगा। इसका मतलब है कि कड़ी परिश्रम करके अपना पसीना बहाना होगा। अगर आप पसीना बहाते रहे तो आपको सफलता मिलेगी और आप सूर्य की तरह चमकने में सफलता प्राप्त करेंगे।

रावत ने कहा कि पिछले कई सौ सालों तक हमारे देश पर विदेशियों का कब्जा रहा, जिससे विचारधारा में बदलाव आए हैं। शिक्षण संस्थाओं को संस्कृति से जोड़ कर रखने की जरूरत है। आपसी मेल जोल के साथ अपनी शिक्षा प्रणाली को आगे रखते हैं। इस मंच पर आज पहुंचे है तो इसका श्रेय हमारे शिक्षकों को जाता है।

रावत ने शिक्षकों से कहा कि हम कोई भी सफलता अपने शिक्षकों के बूते ही हासिल करते हैं। कोई ऐसा कहता है कि वह अपने दम पर खड़ा हुआ तो वह गलत कहता है। वह किसी न किसी से प्रेरणा लेकर आगे बढ़ता है। अपने विद्यार्थियों का सही मार्गदर्शन करें। सच्चा अध्यापक वह होता है जो अपने विद्यार्थियों को सही दिशा में चलने का निर्देश और आदेश देता है।

--आईएएनएस

विकेटी-एसकेपी

अलीगढ़: उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में अदालत परिसर के अंदर एक मुस्लिम युवक के साथ कथित तौर पर दुर्व्यवहार और मारपीट की गई, जहां वह एक लड़की को लेकर कानूनी रूप से शादी करने पहुंचा था। घटना गुरुवार को हुई और घटना की वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है।

वीडियो में 21 साल के युवक को ई-रिक्शा में पुलिसकर्मियों द्वारा जबरन बैठाते हुए देखा जा सकता है।

दूसरे वीडियो में, लड़की को महिला कांस्टेबलों द्वारा ले जाते हुए भी देखा जा रहा है। वह चिल्लाती है कि वह बालिग है और युवक के साथ रहना चाहती है।

लड़की, जो अलग धर्म की है, शादी के लिए चंडीगढ़ से आई थी, जबकि युवक, सोनू मलिक एक स्थानीय निवासी है। मलिक हरियाणा के अंबाला में काम करता है।

जोड़े को सिविल लाइन पुलिस स्टेशन अलीगढ़ ले जाया गया लेकिन गुरुवार देर रात तक कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई थी।

सर्कल ऑफिसर (सीओ) अनिल समानिया ने कहा, "मामले की जांच की जा रही है।"

--आईएएनएस

वीएवी-एसकेपी

क्राइस्टचर्च: पाकिस्तान की पुरुष क्रिकेट टीम को न्यूजीलैंड में आइसोलेशन में रहते हुए अपने होटल से बाहर जाने और समूह में अभ्यास करने की इजाजत नहीं मिली। पाकिस्तानी टीम के कई खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं और इसीलिए इस टीम को आइसोलेशन में रहने के लिए कहा गया है।

न्यूजीलैंड स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान जारी कर साफ कर दिया कि पाकिस्तानी टीम को समूह में अभ्यास करने के लिए होटल छोड़ने की इजाजत नहीं दी जा सकती है।

टीम अभी क्राइस्टचर्च में आइसोलेशन में है और इसने अभ्यास की इजाजत मांगी थी। पाकिस्तानी टीम के आठ सदस्य अभी कोरोना पॉजिटिव हैं। ये सभी 14 दिन के क्वारंटीन पर हैं।

पाकिस्तान को मेजबान न्यूजीलैंड के साथ तीन टी20 और दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है। यह सीरीज 18 दिसम्बर से शुरू होगी।

--आईएएनएस

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के नगरोटा में जैश के 4 आतंकियों के मारे जाने के 15 दिन बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने शुक्रवार को कहा कि उसने 19 नवंबर की घटना की जांच की कमान संभाल ली है। अधिकारियों ने यहां यह जानकारी दी। जांच से जुड़े एनआईए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया कि यह मामला केंद्र सरकार द्वारा जारी अधिसूचना के बाद आतंकवाद-रोधी जांच एजेंसी को सौंप दिया गया। यह उसी स्थान पर हुए एक और मुठभेड़ मामले की भी जांच कर रही है जो जनवरी में हुई थी।

19 नवंबर को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर नगरोटा के पास सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में एक ट्रक में छिपे जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के चार आतंकवादी मारे गए थे।

आतंकियों के साथ मुठभेड़ के दौरान दो पुलिसकर्मी भी घायल हो गए थे।

एनआईए अधिकारियों के अनुसार, बान टोल प्लाजा पर सुबह करीब 5 बजे आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ शुरू हुई थी।

अगले तीन घंटों के भीतर, आतंकवादी मारे गए थे।

एनआईए अधिकारियों की एक टीम ने मुठभेड़ के बाद बान टोल प्लाजा स्थल का दौरा किया था और उसी दिन प्रत्यक्षदर्शी और पुलिस अधिकारियों के बयान दर्ज किए थे।

एनआईए इस साल 31 जनवरी को नगरोटा में हुए एनकाउंटर की भी जांच कर रही है, जिसमें उसी टोल प्लाजा पर जेईएम के तीन आतंकी मारे गए थे।

--आईएएनएस

वीएवी-एसकेपी

 

 

 

रतलाम/भोपाल: मध्यप्रदेश के रतलाम जिले में पुलिस मुठभेड़ में मारा गया शातिर बदमाश और लुटेरा दिलीप देवल ऐसा अपराधी था जो लूट की वारदात को अंजाम देने के बाद कोई निशान नहीं छोड़ता था। इतना ही नहीं कोई गवाह ही न रहे इसके लिए वह सामने आए व्यक्ति को गोली मारकर मौत के घाट उतार देता था। रतलाम में उसे इसी तरह की वारदात करना महंगा पड़ गया और वह भी पुलिस की गोली का निशाना बन गया।

रतलाम में छोटी दिवाली के दिन एक परिवार को दिलीप ने अपना निशाना बनाया और लूट के बाद उस परिवार के तीनों सदस्यों के सिर पर गोली मारी थी। पुलिस के लिए इस हत्याकांड को सुलझाना काफी मुश्किल हो गया था। लगातार जगह-जगह दबिश दी जा रही थी, सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे थे।

रतलाम पुलिस ने तिहरे हत्याकांड मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया, जिनमें दो गुजरात के दाहोद से और एक रतलाम से। इसके बाद पुलिस ने आरोपी दिलीप की तलाश शुरू की और गुरुवार रात को उसके खाचरोद मार्ग क्षेत्र में होने की सूचना मिली। पुलिस ने घेराबंदी की और गोलीबारी में मारा गया।

रतलाम के पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने बताया है कि दिलीप पिछले कुछ समय से रतलाम में रह रहा था और वह यहां चार हत्याएं कर चुका था, इससे पहले उसने गुजरात के दाहोद में दो हत्या की थी। वह एक साइको किलर बदमाश था। वह लूट आदि की वारदात को अंजाम देने के बाद व्यक्ति के सिर में गोली मारकर हत्या कर देता था। वह दाहोद से जमानत पर रिहा होने के बाद से बीते दो साल से फरार चल रहा था।

पुलिस के अनुसार दिलीप ने रतलाम में आकर किराए का मकान लिया था और वह नाम बदलकर यहां रह रहा था। वह अपने को हिमांशु सोलंकी बताता था। इतना ही नहीं पूर्व परिचित एक महिला के सहारे वह लोगों से दोस्ती बनाता और संबंधित के बारे में सारी जानकारी जुटाता था। इसके बाद अपनी योजना को अंजाम देता था।

रतलाम में एक परिवार की तीन लोगों की हत्या करने के बाद पुलिस ने इस हत्याकांड से जुड़े लोगों को गिरफ्तार किया मगर दिलीप उनकी पकड़ से बाहर था। बताया गया है कि वह जिस मकान में रहता था उसके सामने के दरवाजे का उपयोग नहीं करता था क्योंकि उसे इस बात की आशंका रहती थी कि कहीं उसका चेहरा किसी सीसीटीवी कैमरे में कैद न हो जाए। वह पीछे के रास्ते से आना-जाना करता था।

दिलीप के अपराध करने का तरीका अलग तरह का था। वह पहले संबंधित परिवार की पूरी रेकी कर लेता था, उससे नजदीकियां बनाता था और वारदात को अंजाम देता था। इतना ही नहीं वह जिस घर में वारदात को अंजाम देता था वहां जिस भी व्यक्ति से सामना होता था उसके सिर में गोली मार देता था। गुजरात के दाहोद में भी उसने एक व्यापारी को इसी तरह मारा था।

राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी पुलिस दल को बधाई दी है। साथ ही इस मुठभेड़ में घायल हुए पुलिस जवानों के स्वस्थ होने की कामना की है।

--आईएएनएस

एसएनपी

वाशिंगटन: अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन ने घोषणा की है कि उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा प्रशासन के एक पूर्व अधिकारी और वर्तमान में ब्लैकरॉक में स्थायी निवेश के प्रमुख ब्रायन डीस को राष्ट्रीय आर्थिक परिषद के अगले निदेशक के रूप में सेवा देने के लिए चुना है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, बाइडेन ने गुरुवार को एक बयान में कहा, "ब्रायन देश में सबसे निपुण लोक सेवकों में से एक हैं - एक विश्वसनीय आवाज, जो चल रहे आर्थिक संकट को समाप्त करने में मदद कर सकती है, एक बेहतर अर्थव्यवस्था का निर्माण कर सकती है जो हर किसी के अनुकूल हो।"

बाइडेन ट्रांजिशन टीम द्वारा गुरुवार को जारी एक वीडियो में, डीस ने अपनी नई भूमिका में के बारे में कहा, वह हर दिन जलवायु संकट से निपटने के लिए आवश्यक साहसिक नए कार्यों पर ध्यान केंद्रित करेंगे, समुदायों को अधिक लचीला बनाने, नस्लीय असमानताओं को दूर करने और आर्थिक सुधार में तेजी लाने में मदद करेंगे।

डीस पूर्व में राष्ट्रीय आर्थिक परिषद के उप निदेशक, प्रबंधन और बजट कार्यालय के उप निदेशक और राष्ट्रपति बराक ओबामा के वरिष्ठ सलाहकार के रूप में अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

--आईएएनएस

वीएवी-एसकेपी

पटना: बिहार में कानून-व्यवस्था की स्थिति पर एक ओर जहां विपक्ष सरकार को घेरने का कोई भी मौका नहीं चूक रही है वहीं शुक्रवार को सरकार के 'अपनों' ने ही कानून व्यवस्था पर सवाल उठा दिया है। कानून व्यवस्था की हालत पर चिंता प्रकट करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने अपनी ही राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की सरकार को घेरा है। उन्होंने राज्य के पूर्वी चंपारण जिले में कानून-व्यवस्था की स्थिति पर सवाल उठाते हुए कहा कि वे इस मामले में पुलिस महानिदेशक से मिलेंगे।

डॉ. संजय जायसवाल ने अपने अधिकारिक फेसबुक पेज पर पोस्ट कर लिखा कि वे शुक्रवार को बेतिया से पटना की यात्रा पर हैं। रास्ते में पूर्वी चंपारण के सेमरा में जनता ने सड़क जाम कर दिया था। पता चला कि वहां आए दिन चोरियां हो रही हैं।

उन्होंने आगे लिखा, "आज गांव वालों ने चोर को पकड़ने की कोशिश की तो वह अपनी बाइक छोड़कर भागने में सफल रहा। स्थानीय तुरकौलिया थाना प्रभारी को फोन करने पर वह उल्टे गांव वालों को धमकाने लगा कि पुलिस आई तो उन्हें ही गिरफ्तार करेगी।"

बिहार भाजपा प्रमुख ने आगे लिखा, "पूर्वी चंपारण के थानों में अव्यवस्था के हालात हैं। रक्सौल से लेकर मोतिहारी तक लगातार अपराध की घटनाएं हो रही हैं और पुलिस अपराधियों को पकड़ने में नाकाम साबित हो रही है।"

डॉ. जायसवाल ले आगे लिखा है कि वे पटना पहुंचने पर खुद पुलिस महानिदेशक से मिलकर पूर्वी चंपारण की कानून व्यवस्था के बारे में बात करेंगे।

उल्लेखनीय है कि विपक्ष लगातार कानून व्यवस्था को लेकर नीतीश सरकार पर निशाना साध रही है।

--आईएएनएस

एमएनपी-एसकेपी

मुंबई: भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने देश की आर्थिक सेहत में आगे तेजी से सुधार के संकेत दिए हैं। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने केंद्रीय बैंक की द्विमासिक मौद्यिक नीति समीक्षा बैठक में लिए गए फैसले की घोषणा करते हुए शुक्रवार को कहा कि चालू वित्त वर्ष 2020-21 में देश की आर्थिक विकास दर में 7.5 फीसदी की गिरावट रहने का अनुमान है जबकि इससे पहले देश की आर्थिक विकास दर में 9.5 फीसदी की गिरावट रहने का अनुमान लगाया गया था। आरबीआई का अनुमान है कि देश के वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी की वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष में माइनस 7.5 फीसदी रह सकती है जबकि इससे पहले जीडीपी वृद्धि दर माइनस 9.5 फीसदी रहने का अनुमान लगाया था।

आरबीआई का अनुमान है कि चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में आर्थिक विकास दर 0.1 फीसदी जबकि चौथी तिमाही में 0.7 फीसदी रह सकती है।

वहीं, अगले वित्त वर्ष की पहली छमाही में जीडीपी विकास दर 6.5 फीसदी के करीब रहने का अनुमान है।

दास ने कहा कि देश की आर्थिक सेहत में उम्मीदों से ज्यादा सुधार देखा जा रहा है और कोरोना महाममारी की रोकथाम के लिए वैक्सीन आने की उम्मीदों से रिकवरी तेज होगी।

--आईएएनएस

पीएमजे-एसकेपी

न्यूयॉर्क: अमेरिकी सीनेट ने एक विधेयक पारित किया है जो हर देश को रोजगार आधारित स्थायी-निवास परमिट या अप्रवासियों को कानूनी रूप से जारी किए गए 'ग्रीन कार्ड' की संख्या निर्धारण को खत्म करता है, और संभावित रूप से इसे हासिल करने का मार्ग प्रशस्त करता है। इससे वे भारतीय खासे उत्साहित हैं जो दशकों से ग्रीन कार्ड पाने की जुगत में हैं।

कनेक्टिकट के स्टैमफोर्ड में रहने वाली एक भारतीय अपर्णा भटनागर जो हमेशा कतार में रही, इस मामले में प्रगति देखती है।

उन्होंने आईएएनएस से कहा, "इस वर्जन को सदन द्वारा पारित पिछले वर्जन के साथ सामंजस्य स्थापित करना है। इसे अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना है और उस समय तक नई सरकार सत्ता संभाल लेगी। चलिए इंतजार करते हैं और देखते है कि आगे क्या होता है। "

'पिछला संस्करण' जिसे भटनागर संदर्भित करती है, वह 'फेयरनेस फॉर हाई-स्किल्ड इमिग्रेंट्स एक्ट' है जिसे 2019 में प्रतिनिधि सभा ने पास किया था।

बुधवार देर रात सीनेट ने जो पारित किया वह सीनेटर माइक ली (रिपब्लिकन, यूटा) द्वारा प्रायोजित एक कानून जैसा था, न कि ठीक वैसा जैसा सदन ने पास किया था।

सीनेट और सदन के बिलों के कॉम्बो वर्जन को व्हाइट हाउस को भेजे जाने से पहले सदन और सीनेट दोनों को पास करना होगा।

वर्तमान अमेरिकी नियम किसी भी देश को सभी रोजगार-आधारित ग्रीन कार्ड के 7 प्रतिशत तक सीमित करते हैं।

उन भारतीय की संख्या 600,000 से अधिक है, जिनकी कागजी कार्रवाई स्वीकृत है लेकिन प्रतीक्षा कर रहे हैं।

विदेश विभाग एक वर्ष में लगभग 140,000 ग्रीन कार्ड प्रदान करता है।

अटलांटा निवासी राशि भटनागर ने आईएएनएस से कहा, "सीनेट द्वारा लिया गया यह वास्तव में एक महान निर्णय है। लेकिन सदन को अतिरिक्त संशोधनों के साथ विधेयक पारित करना है।"

विभिन्न रिपब्लिकन सीनेटरों ने इसके वर्तमान स्वरूप में कानून का विरोध किया।

सीनेटर रैंड पॉल (रिपब्लिकन, केंटकी) ने फिलीपींस की नर्सों के लिए प्रावधान डाला है और एच 1 बी वीजा पर 50 प्रतिशत श्रमिकों को नियुक्त करने वाली फर्मों पर नए प्रतिबंध लगाने की मांग कर रहे हैं।

सीनेटर रिक स्कॉट (रिपब्लिकन, फ्लोरिडा) ने दो और प्रावधान जोड़े हैं, एच-1 बी वीजा पर अप्रवासियों की कुल संख्या पर अगले 10 वर्षों के लिए एक नई सीमा जो ग्रीन कार्ड प्राप्त कर सकते हैं और एक और प्रवाधान जो चीन से आव्रजन को हटा सकता है।

आव्रजन पर सदन न्यायपालिका उपसमिति की अध्यक्ष, प्रतिनिधि जोलोफग्रेन ने कहा, "जबकि मैं समाधान खोजने के लिए संघर्ष कर रहे सभी सदस्यों और सीनेटरों की निष्ठा समझती हूं, दुर्भाग्य से कल सीनेट द्वारा सदन को भेजे गए प्रावधान संभावना को सबसे अधिक बदतर बनाते हैं, बेहतर नहीं।"

सीनेट द्वारा बिल को सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया। अमेरिका में स्किल्ड इमिग्रेंट्स (गैर-सरकारी संगठन) का नेतृत्व करने वाले अनिरबन दास ने कहा कि बिल लगभग फिनिश लाइन पर है। मुझे पूरी उम्मीद है कि प्रतिनिधि जो लोफग्रेन एक समझौता कर सकती हैं और अंत में इस बिल को पारित कर सकती हैं।

--आईएएनएस

वीएवी-एसकेपी

Page 2 of 16773

Don't Miss